रबीन्द्रनाथ टैगोर पर नज़्में

रबीन्द्रनाथ टैगोर पर कही गई चंद बेहतरीन उर्दू नज़्में

14
Favorite

श्रेणीबद्ध करें

टैगोर

सहर के वक़्त जब ठंडी हवाएँ सरसराती हैं

शातिर हकीमी

नज़्र-ए-टैगोर

मिरी कला मेरी शाइ'री मेरे फ़न का उस को सलाम पहुँचे

रिफ़अत सरोश

कोई टैगोर की कविता है

कोई टैगोर की कविता है

इकराम बसरा

नज़्र-ए-टैगोर

क्या नग़्मा-हा-ए-कैफ़ का दरिया बहा गया

जयकृष्ण चौधरी हबीब