Bayan Meeruthi's Photo'

बयान मेरठी

1840 - 1900 | मेरठ, भारत

दाग़ के समकालीन, उर्दू और फ़ारसी में शायरी की, आधुनिक शायरी के आंदोलन से प्रभावित होकर नये अंदाज़ की नज़्में भी लिखीं

दाग़ के समकालीन, उर्दू और फ़ारसी में शायरी की, आधुनिक शायरी के आंदोलन से प्रभावित होकर नये अंदाज़ की नज़्में भी लिखीं

बयान मेरठी

शेर 16

नहीं ये आदमी का काम वाइ'ज़

हमारे बुत तराशे हैं ख़ुदा ने

  • शेयर कीजिए

याद में ख़्वाब में तसव्वुर में

कि आने के हैं हज़ार तरीक़

  • शेयर कीजिए

अदाएँ ता-अबद बिखरी पड़ी हैं

अज़ल में फट पड़ा जोबन किसी का

  • शेयर कीजिए

हज़ारों दिल मसल कर पैर से झुँझला के यूँ बोले

लो पहचानो तुम्हारा इन दिलों में कौन सा दिल है

  • शेयर कीजिए

ये तासीर मोहब्बत है कि टपका

हमारा ख़ूँ तुम्हारी गुफ़्तुगू से

  • शेयर कीजिए

ग़ज़ल 15

रुबाई 10

पुस्तकें 4

Bayan Merathi Ki Jadeed Nazmen

 

2000

Bayan-e-Merathi

Hayat-o-Shayari

1980

Bayan-e-Merathi Aur Ghalib

 

1997

Deewan-e-Bayan Merathi

 

2007

 

"मेरठ" के और लेखक

  • ऐश मेरठी ऐश मेरठी
  • असलम जमशेदपुरी असलम जमशेदपुरी
  • क़ैसर ज़ैदी क़ैसर ज़ैदी