आज के चुनिन्दा 5 शेर

अपने जलने में किसी को नहीं करते हैं शरीक

रात हो जाए तो हम शम्अ बुझा देते हैं

सबा अकबराबादी
  • शेयर कीजिए

दिया ख़ामोश है लेकिन किसी का दिल तो जलता है

चले आओ जहाँ तक रौशनी मा'लूम होती है

the lamp's extinguised but someone's heart

the lamp's extinguised but someone's heart

नुशूर वाहिदी

आग का क्या है पल दो पल में लगती है

बुझते बुझते एक ज़माना लगता है

कैफ़ भोपाली
  • शेयर कीजिए

'हफ़ीज़' अपनी बोली मोहब्बत की बोली

उर्दू हिन्दी हिन्दोस्तानी

हफ़ीज़ जालंधरी
  • शेयर कीजिए

एक आँसू ने डुबोया मुझ को उन की बज़्म में

बूँद भर पानी से सारी आबरू पानी हुई

a single tear caused my fall in her company

just a drop of water drowned my dignity

a single tear caused my fall in her company

just a drop of water drowned my dignity

शेख़ इब्राहीम ज़ौक़
आज का शब्द

जौर

  • jaur
  • جور

शब्दार्थ

tyranny/ oppression

आप पछताएँ नहीं जौर से तौबा करें

आप के सर की क़सम 'दाग़' का हाल अच्छा है

शब्दकोश
आर्काइव

आज की प्रस्तुति

लोकप्रिय रूमानी शायर , मलिका पुखराज ने उनकी नज़्म ' अभी तो मैं जवान हूँ ' , को गा कर प्रसिध्दि दी। पाकिस्तान का राष्ट्रगान लिखा।

हवा भी ख़ुश-गवार है

गुलों पे भी निखार है

पूर्ण नज़्म देखें
पसंदीदा विडियो
This video is playing from YouTube

हरबंस मुखिया

Cultural and Literary Interaction in Medieval India l Jashn-e-Rekhta 2017

इस विडियो को शेयर कीजिए

ई-पुस्तकें

Deewan Hamd-e-izadi

मुफ़्ती ग़ुलाम सरवर लाहोरी 

1909 दीवान

अरमानों का ख़ून

मसरूर जहाँ 

1991 नॉवेल / उपन्यास

इंतिख़ाब कुल्लियात-ए-इक़बाल

ए.एम फ़हीम 

2002 संकलन

Kulliyat-e-Anwar Shaoor

अनवर शऊर 

2015 महाकाव्य

Raqs Number: August: Shumara Number-001

अर्श मलसियानी 

1959 आज कल

अन्य ई-पुस्तकें

नया क्या है

हम से जुड़िये

न्यूज़लेटर

* रेख़्ता आपके ई-मेल का प्रयोग नियमित अपडेट के अलावा किसी और उद्देश्य के लिए नहीं करेगा