पसंदीदा विडियो

ज़िया मोहीउद्दीन

Padhant-1 : Jashn-e-Rekhta 2015

इस विडियो को शेयर कीजिए

आज के टॉप 5

बिछड़ने का इरादा है तो मुझ से मशवरा कर लो

मोहब्बत में कोई भी फ़ैसला ज़ाती नहीं होता

अफ़ज़ल ख़ान
  • शेयर कीजिए

कश्तियाँ सब की किनारे पे पहुँच जाती हैं

नाख़ुदा जिन का नहीं उन का ख़ुदा होता है

बेदम शाह वारसी
  • शेयर कीजिए

आँखों से मोहब्बत के इशारे निकल आए

बरसात के मौसम में सितारे निकल आए

मंसूर उस्मानी

आग का क्या है पल दो पल में लगती है

बुझते बुझते एक ज़माना लगता है

कैफ़ भोपाली

वही साक़ी वही साग़र वही शीशा वही बादा

मगर लाज़िम नहीं हर एक पर यकसाँ असर होना

यगाना चंगेज़ी
आर्काइव
आज का शब्द

अंजुमन

  • anjuman
  • انجمن

शब्दार्थ

assembly/ association

दुनिया की महफ़िलों से उकता गया हूँ या रब

क्या लुत्फ़ अंजुमन का जब दिल ही बुझ गया हो

शब्द शेयर कीजिए

आर्काइव

आज की प्रस्तुति

अग्रणी एवं प्रख्यात प्रगतिशील शायर, रोमांटिक और क्रांतिकारी नज़्मों के लिए प्रसिद्ध, ऑल इंडिया रेडियो की पत्रिका “आवाज” के पहले संपादक, मशहूर शायर और गीतकार जावेद अख़्तर के मामा

नज़्र-ए-अलीगढ़

सरशार-ए-निगाह-ए-नर्गिस हूँ पा-बस्ता-ए-गेसू-ए-सुम्बुल हूँ

पूर्ण नज़्म देखें

असरार-उल-हक़ मजाज़ के बारे में शेयर कीजिए

ई-पुस्तकालय

उर्दू साहित्य का सबसे बड़ा ऑनलाइन संग्रह

Aasar-us-Sanadeed

सय्यद अहमद ख़ाँ 

1895 इतिहास

Sir Syed Ahmad Khan Number: Shumara Number-010

 

2008 Tahzeebul Akhlaq

कुल्लियात-ए-यगाना

यगाना चंगेज़ी 

2003 महाकाव्य

Qata-e-Kalam

मुजतबा हुसैन 

1989 हास्य-व्यंग

शहर-ए-सितम

मलिकज़ादा मंज़ूर अहमद 

1992 संकलन

ई-पुस्तकालय

नया क्या है

हम से जुड़िये

न्यूज़लेटर

* रेख़्ता आपके ई-मेल का प्रयोग नियमित अपडेट के अलावा किसी और उद्देश्य के लिए नहीं करेगा

Favroite added successfully

Favroite removed successfully