सुरूर जहानाबादी की 5 मशहूर नज़्में

नयी नज़्म को विषयगत और शैली के लिहाज़ से समृद्ध करने में मुख्य भूमिका निभाई

80
Favorite

श्रेणीबद्ध करें

पदमनी

अंदलीबों को मिली आह-ओ-बुका की तालीम

सुरूर जहानाबादी

बुलबुल ओ परवाना

गिरा रहा है तिरा शौक़ शम्अ पर तुझ को

सुरूर जहानाबादी

गंगा

ऐ आब-रूद-ए-गंगा उफ़ री तिरी सफ़ाई

सुरूर जहानाबादी

सती

ऐ सती ऐ जल्वा-गाह-ए-शोला-ए-तनवीर-ए-हुस्न

सुरूर जहानाबादी

जमुना

धीमी धीमी बहने वाली एक नहर-ए-दिल-नशीं

सुरूर जहानाबादी