शेर

विषयानुसार हज़ारों लोकप्रिय शेर


  • कितने शीरीं हैं तेरे लब कि रक़ीब
    गालियाँ खा के बे-मज़ा न हुआ

    मिर्ज़ा ग़ालिब

  • साहिल के तमाशाई हर डूबने वाले पर
    अफ़्सोस तो करते हैं इमदाद नहीं करते

    फ़ना निज़ामी कानपुरी

  • भेज दी तस्वीर अपनी उन को ये लिख कर 'शकील'
    आप की मर्ज़ी है चाहे जिस नज़र से देखिए

    शकील बदायुनी

  • गो हाथ को जुम्बिश नहीं आँखों में तो दम है
    रहने दो अभी साग़र-ओ-मीना मिरे आगे

    मिर्ज़ा ग़ालिब

  • पहले सौ बार इधर उधर देखा
    तब तुझे डर के इक नज़र देखा

    सय्यद मोहम्मद असर

  • लुत्फ़-ए-मय तुझ से क्या कहूँ ज़ाहिद
    हाए कम-बख़्त तू ने पी ही नहीं

    दाग़ देहलवी

  • ज़ेर-ए-दीवार खड़े हैं तिरा क्या लेते हैं
    देख लेते हैं लगी दिल की बुझा लेते हैं

    अज्ञात

  • तारों का गो शुमार में आना मुहाल है
    लेकिन किसी को नींद न आए तो क्या करे

    अफ़सर मेरठी

  • इब्तिदा वो थी कि जीना था मोहब्बत में मुहाल
    इंतिहा ये है कि अब मरना भी मुश्किल हो गया

    जिगर मुरादाबादी

  • और चल फिर ले ज़रा तन तन के ऐ बाँके जवाँ
    चार दिन के बाद फिर टेढ़ी कमर हो जाएगी

    अज्ञात

  • ना-ख़ुदा ने मुझे दलदल में फंसाए रक्खा
    डूब मरने न दिया पार उतरने न दिया

    अज्ञात

  • अब जिस के जी में आए वही पाए रौशनी
    हम ने तो दिल जला के सर-ए-आम रख दिया

    क़तील शिफ़ाई

  • एहसास थकन का मुझे पल भर नहीं होता
    रस्ते में अगर मील का पत्थर नहीं होता

    मोअज़्ज़म शिकवा ज़ाबिर

  • सफ़र में ऐसे कई मरहले भी आते हैं
    हर एक मोड़ पे कुछ लोग छूट जाते हैं

    आबिद अदीब

  • इक वही शख़्स मुझ को याद रहा
    जिस को समझा था भूल जाऊँगा

    सलमान अख़्तर

चित्रित शायरी

शायरी की सैकड़ों खूबसूरत तस्वीरें शेयर कीजिए

सम्पूर्ण

टैग