दिल्ली के शायर और अदीब

कुल: 830

प्रसिद्ध कवयित्री, कहानीकार और अनुवादक. समकालीन सऊदी साहित्य के अनुवाद के लिए जानी जाती हैं

ख्यातिप्राप्त आलोचक और शायर, दिल्ली विश्वविद्यालय में उर्दू के प्रोफ़ेसर रहे

आज़ादी के बाद भारतीय राजनीति का लोकप्रिय व्यक्तित्व, एक उत्कृष्ट समाज की रचना के विचारों वाली शायरी की; ‘जंग न होने देंगे’ उनके काव्य संग्रह का नाम है

क्लासिकी परंपरा के प्रमुख हास्य-व्यंग शायर, अपनी विशिष्ट भाषा और अभिव्यक्ति के लिए प्रसिद्ध

डिप्टी नज़ीर अहमद के परिवार के अहम व्यक्ति, नामी कथाकार, पत्रकार और अनुवादक, अपनी किताब ‘दिल्ली की चन्द अजीब हस्तियाँ’ के लिए प्रसिद्ध।

18 वीं सदी के प्रमुख शायरों में शामिल / मीर तक़ी मीर के समकालीन

पत्रकार और शायर, हास्य-व्यंग्य की शायरी भी की

नौजवान उर्दू शाइर

मशहूर शायर जोश मलसियानी के पुत्र

हिंदुस्तान की नई पीढ़ी के शायर

विद्वान, स्वतंत्रता सेनानी और वक्ता, अपनी शायरी में सूफीवाद और मस्तानगी के लिए मशहूर

पाकिस्तान के शायर और पत्रकार

उत्तर-क्लासिकी शायर, ज़ौक़ और ग़ालिब के शिष्य अपने सर्वाधिक लोकप्रिय शेरों के लिए प्रसिद्ध

प्रसिद्ध आधुनिक कथा लेखक,प्रतीकात्मक कहानी लेखन के लिए चर्चित।

नौजवान शायर और मंच से जुड़े कलाकार

पत्रकार, शायर, कथाकार, संपादक 'फ़िल्मी सितारे' ख़्वाजा अहमद अब्बास की फ़िल्म 'परदेसी' के अलावा कई नाटकों में भूमिका में निभा चुके हैं

बोलिए