आज के चुनिन्दा 5 शेर

दिल से निकलेगी मर कर भी वतन की उल्फ़त

मेरी मिट्टी से भी ख़ुशबू-ए-वफ़ा आएगी

लाल चन्द फ़लक
  • शेयर कीजिए

वतन की ख़ाक से मर कर भी हम को उन्स बाक़ी है

मज़ा दामान-ए-मादर का है इस मिट्टी के दामन में

चकबस्त ब्रिज नारायण

सारे जहाँ से अच्छा हिन्दोस्ताँ हमारा

हम बुलबुलें हैं इस की ये गुलसिताँ हमारा

अल्लामा इक़बाल
  • शेयर कीजिए

लहू वतन के शहीदों का रंग लाया है

उछल रहा है ज़माने में नाम-ए-आज़ादी

फ़िराक़ गोरखपुरी
  • शेयर कीजिए

देख रफ़्तार-ए-इंक़लाब 'फ़िराक़'

कितनी आहिस्ता और कितनी तेज़

फ़िराक़ गोरखपुरी
  • शेयर कीजिए
आज का शब्द

सरफ़रोशी

  • sarfaroshii
  • سرفروشی

शब्दार्थ

readiness to be sacrificed

सरफ़रोशी की तमन्ना अब हमारे दिल में है

देखना है ज़ोर कितना बाज़ू-ए-क़ातिल में है

शब्दकोश
आर्काइव

आज की प्रस्तुति

फ़िल्म स्क्रिप्ट- राइटर , गीतकार और शायर। ' शोले ' और ' दीवार ' जैसी फ़िल्मों के लिए प्रसिद्ध

पंद्रह अगस्त

यही जगह थी यही दिन था और यही लम्हात

पूर्ण नज़्म देखें
पसंदीदा विडियो

जावेद अख़्तर

कुछ इश्क़ किया कुछ काम किया l जावेद अख़्तर एवं अतीक़ा अहमद फ़ारूकी l जश्न-ए-रेख्ता 2017

इस विडियो को शेयर कीजिए

ई-पुस्तकें

Jawahar Lal Nehru Ki Taqreeren

जवाहर लाल नेहरू 

1957 व्याख्यान

Aazadi Ki Lahren

तबस्सुम निज़ामी 

1949

तहरीक-ए-अाज़ादी

अबुल कलाम आज़ाद 

1958

Jung-e-Azadi Ke Muslim Mujahideen

अज़ीज़ुर्रहमान जामई 

आज़ादी की कहानी उर्दू की ज़बानी

अबू तालिब 

1984 नज़्म

अनय ई-पुस्तकें

नया क्या है

हम से जुड़िये

न्यूज़लेटर

* रेख़्ता आपके ई-मेल का प्रयोग नियमित अपडेट के अलावा किसी और उद्देश्य के लिए नहीं करेगा

Favorite added successfully

Favorite removed successfully