Salam Sandelvi's Photo'

सलाम संदेलवी

1919 - 2000 | गोरखपुर, भारत

सलाम संदेलवी

अशआर 21

ख़ुशी के फूल खिले थे तुम्हारे साथ कभी

फिर इस के ब'अद आया बहार का मौसम

  • शेयर कीजिए

शबनम ने रो के जी ज़रा हल्का तो कर लिया

ग़म उस का पूछिए जो आँसू बहा सके

  • शेयर कीजिए

सौ बार आई होंटों पे झूटी हँसी मगर

इक बार भी दिल से कभी मुस्कुरा सके

  • शेयर कीजिए

कटेगी कैसे गुल-ए-नौ की ज़िंदगी या-रब

कि इस ग़रीब का ख़ानों में घर अभी से है

  • शेयर कीजिए

बहुत उम्मीद थी मंज़िल पे जा कर चैन पाएँगे

मगर मंज़िल पे जब पहुँचे तो नज़्म-ए-कारवाँ बदला

  • शेयर कीजिए

ग़ज़ल 3

 

नज़्म 13

गीत 2

 

पुस्तकें 30

"गोरखपुर" के और लेखक

 

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए