शेर

विषयानुसार हज़ारों लोकप्रिय शेर

टॉप 20 सीरीज़

प्रख्यात शायरों के 20 बेहतरीन शेर और लोकप्रिय विषयों पर ख़ूबसूरत शायरी

देखिए सब
img

आईना शायरी

1
img

आँसू शायरी

4
img

मुलाक़ात शायरी

3
img

वफ़ा शायरी

5
img

वसीम बरेलवी की शायरी

3
img

ज़ुल्फ़ शायरी

2
img

अब्दुल हमीद अदम की शायरी

1
img

मुज़्तर ख़ैराबादी की शायरी

6
img

हुस्न शायरी

7
img

बोसा शायरी

3
img

इमाम बख़्श नासिख़ की शायरी

2
img

अंगड़ाई शायरी

2
img

ज़फ़र इक़बाल की शायरी

img

आँख शायरी

1

विभिन्न अवसर की शायरी

अगर आप किसी विशेष अवसर या त्यौहार पर शायरी की तलाश में हैं तो बिलकुल सही जगह पर हैं!

देखिए सब
img

दीपावली शायरी

2
img

शिक्षक दिवस शायरी

img

रक्षाबंधन शायरी

1
img

जश्न-ए-आज़ादी

3
img

मज़दूर दिवस शायरी

2
img

होली शायरी

img

नया साल शायरी

img

माँ शायरी

चित्र शायरी

शायरी की सैकड़ों खूबसूरत तस्वीरें शेयर कीजिए

देखिए सब
इतने मायूस तो हालात नहीं-जाँ निसार अख़्तर

जाँ निसार अख़्तर

और क्या देखने को बाक़ी है-फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

फ़ैज़ अहमद फ़ैज़

रोज़ कहता हूँ कि अब उन को न देखूँगा कभी-सीमाब अकबराबादी

सीमाब अकबराबादी

मैं इसे शोहरत कहूँ या अपनी रुस्वाई कहूँ-ख़ातिर ग़ज़नवी

ख़ातिर ग़ज़नवी

कह रहा है शोर-ए-दरिया से समुंदर का सुकूत-नातिक़ लखनवी

नातिक़ लखनवी

ये माना ज़िंदगी है चार दिन की-फ़िराक़ गोरखपुरी

फ़िराक़ गोरखपुरी

कभी किसी को मुकम्मल जहाँ नहीं मिलता-निदा फ़ाज़ली

निदा फ़ाज़ली

दिल उजड़ी हुई एक सराए की तरह है-बशीर बद्र

बशीर बद्र

हँस के फ़रमाते हैं वो देख के हालत मेरी-अमीर मीनाई

अमीर मीनाई

ख़ुशबू जैसे लोग मिले अफ़्साने में-गुलज़ार

गुलज़ार

किसी सबब से अगर बोलता नहीं हूँ मैं-इफ़्तिख़ार मुग़ल

इफ़्तिख़ार मुग़ल

कश्ती भी नहीं बदली दरिया भी नहीं बदला-ग़ुलाम मोहम्मद क़ासिर

ग़ुलाम मोहम्मद क़ासिर

ख़ुदी को कर बुलंद इतना कि हर तक़दीर से पहले-अल्लामा इक़बाल

अल्लामा इक़बाल

हाल-ए-दिल क्यूँ कर करें अपना बयाँ अच्छी तरह-बहादुर शाह ज़फ़र

बहादुर शाह ज़फ़र

Added to your favorites

Removed form your favorites