वक़्त-ए-पीरी शबाब की बातें

शेख़ इब्राहीम ज़ौक़

वक़्त-ए-पीरी शबाब की बातें

शेख़ इब्राहीम ज़ौक़

MORE BYशेख़ इब्राहीम ज़ौक़

    वक़्त-ए-पीरी शबाब की बातें

    ऐसी हैं जैसे ख़्वाब की बातें

    in old age talk of youth now seems

    to be just like the stuff of dreams

    फिर मुझे ले चला उधर देखो

    दिल-ए-ख़ाना-ख़राब की बातें

    Lo! there again it takes me see!

    my ruined heart's advice to me

    वाइज़ा छोड़ ज़िक्र-ए-नेमत-ए-ख़ुल्द

    कह शराब-ओ-कबाब की बातें

    on heaven's virtues don't opine

    O preacher talk of food and wine

    मह-जबीं याद हैं कि भूल गए

    वो शब-ए-माहताब की बातें

    do you recall O moon faced one

    on moonlit nights what we had done

    हर्फ़ आया जो आबरू पे मिरी

    हैं ये चश्म-ए-पुर-आब की बातें

    if, blemish on my honor, came

    my teary eyes are then to blame

    सुनते हैं उस को छेड़ छेड़ के हम

    किस मज़े से इताब की बातें

    I tease her for I love to hear

    her anger's music to my ear

    जाम-ए-मय मुँह से तू लगा अपने

    छोड़ शर्म हिजाब की बातें

    do let your lips in wine immerse

    let shame and modesty,disperse

    मुझ को रुस्वा करेंगी ख़ूब दिल

    ये तिरी इज़्तिराब की बातें

    disgraced, O heart you now shall be

    because of your anxiety

    जाओ होता है और भी ख़फ़क़ाँ

    सुन के नासेह जनाब की बातें

    go, angrier now let him be

    when the preacher talks to me

    क़िस्सा-ए-ज़ुल्फ़-ए-यार दिल के लिए

    हैं अजब पेच-ओ-ताब की बातें

    -------

    -------

    ज़िक्र क्या जोश-ए-इश्क़ में 'ज़ौक़'

    हम से हों सब्र ताब की बातें

    in love's ardour, zauq, how, pray

    can I speak of restraint today?

    Additional information available

    Click on the INTERESTING button to view additional information associated with this sher.

    OKAY

    About this sher

    Lorem ipsum dolor sit amet, consectetur adipiscing elit. Morbi volutpat porttitor tortor, varius dignissim.

    Close

    rare Unpublished content

    This ghazal contains ashaar not published in the public domain. These are marked by a red line on the left.

    OKAY