हिज्र पर ग़ज़लें

अगर आप हिज्र की हालत

में हैं तो ये शायरी आप के लिए ख़ास है। इस शायरी को पढ़ते हुए हिज्र की पीड़ा एक मज़ेदार तजुर्बे में बदलने लगेगी। ये शायरी पढ़िए, हिज्र और हिज्र ज़दा दिलों का तमाशा देखिए।

वीरान सराए का दिया है

उबैदुल्लाह अलीम
बोलिए