शायरात

मुशायरों की लोकप्रिय कवयित्री

प्रमुख पाकिस्तानी शायरात में शामिल, अपनी नज्मों के लिए प्रख्यात

प्रसिद्ध कवयित्री, कहानीकार और अनुवादक. समकालीन सऊदी साहित्य के अनुवाद के लिए जानी जाती हैं

प्रतिरोध और आधुनिक सामाजिक समस्याओं को अपनी शायरी में शामिल करनेवाली शायरा।

लखनऊ की प्रतिष्ठित शायरा जिन्होंने अपनी अभिव्यक्ति में स्त्रीत्व को जगह दी

1926 -2005 लखनऊ

महत्वपूर्ण पाकिस्तानी शायरा, अपनी नर्म और सुगढ़ शायरी के लिए विख्यात।

1924 -2015 कराची

मुशायरों की लोकप्रिय पाकिस्तानी शायरा

नई पीढ़ी की अहम शायरा, अपनी नज़्मों के लिए प्रसिद्ध

मुशायरों में लोकप्रिय, प्रसिद्ध कवयित्री

समकालीन पाकिस्तानी कवयित्रियों में महत्वपूर्ण, उर्दू की शिक्षिका

शायरा और फ़ारसी अदब की विद्वान, लखनऊ विश्वविद्यालय के फ़ारसी विभाग की अध्यक्ष रहीं

पाकिस्तान की युवा कवयित्रियों में एक महत्वपूर्ण नाम

पाकिस्तान की युवा अफ़्सानानिगार और शायरा।

पाकिस्तानी शायरा , अपने स्त्री-वादी विचारों और धार्मिक कट्टरपन के विरोध के लिए मशहूर

पाकिस्तान की अग्रणी शायरात में विख्यात।

भारत की अग्रणी शायरात में विख्यात।

1930 -2011 अलीगढ़

प्रसिद्ध कहानीकार और कॉलम निगार, मशहूर शायर जौन एलिया की पत्नी।

1946

अग्रणी विख्यात पाकिस्तानी कवयित्री