noImage

अब्बास कैफ़ी

1986 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 1

 

शेर 1

ख़्वाब-गह में सियाह ख़ुशबू था

इत्तिफ़ाक़न चराग़ भी गुल था

  • शेयर कीजिए
 

"दिल्ली" के और शायर

  • दाग़ देहलवी दाग़ देहलवी
  • मीर तक़ी मीर मीर तक़ी मीर
  • शाह नसीर शाह नसीर
  • हसरत मोहानी हसरत मोहानी
  • बेख़ुद देहलवी बेख़ुद देहलवी
  • आबरू शाह मुबारक आबरू शाह मुबारक
  • ख़्वाजा मीर दर्द ख़्वाजा मीर दर्द
  • मोमिन ख़ाँ मोमिन मोमिन ख़ाँ मोमिन
  • बहादुर शाह ज़फ़र बहादुर शाह ज़फ़र
  • ताबाँ अब्दुल हई ताबाँ अब्दुल हई