Agha Shayar Qazalbash's Photo'

आग़ा शाएर क़ज़लबाश

1871 - 1940 | दिल्ली, भारत

उत्तर-क्लासिकी युग के महत्वपूर्ण शायर, दाग़ देहलवी के शागिर्द।

उत्तर-क्लासिकी युग के महत्वपूर्ण शायर, दाग़ देहलवी के शागिर्द।

ग़ज़ल 21

शेर 13

पहले इस में इक अदा थी नाज़ था अंदाज़ था

रूठना अब तो तिरी आदत में शामिल हो गया

  • शेयर कीजिए

तुम कहाँ वस्ल कहाँ वस्ल की उम्मीद कहाँ

दिल के बहकाने को इक बात बना रखी है

  • शेयर कीजिए

बड़े सीधे-साधे बड़े भोले-भाले

कोई देखे इस वक़्त चेहरा तुम्हारा

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 41

अाग़ा शायर : हयात-ओ-शाइरी

 

1970

Agha Shair Qizilbash Dehlvi: Shakhsiyat Aur Shairi

 

1995

ख़ुमारिस्तान

 

1943

Khumkada-e-Khaiyyam

 

1932

Khumkada-e-Khayyam

खण्ड-001

1927

मयख़ाना-ए-ख़य्याम

 

 

Nigaristan

 

 

Pahle Zamane Ki Dilli

 

1964

Par-e-Parwaz

 

 

Shola-e-Jawwala

 

1901

संबंधित शायर

  • बर्क़ देहलवी बर्क़ देहलवी शिष्य

"दिल्ली" के और शायर

  • मीर तक़ी मीर मीर तक़ी मीर
  • फ़रहत एहसास फ़रहत एहसास
  • इंशा अल्लाह ख़ान इंशा इंशा अल्लाह ख़ान इंशा
  • आबरू शाह मुबारक आबरू शाह मुबारक
  • शाह नसीर शाह नसीर
  • शेख़ इब्राहीम ज़ौक़ शेख़ इब्राहीम ज़ौक़
  • ताबाँ अब्दुल हई ताबाँ अब्दुल हई
  • हसरत मोहानी हसरत मोहानी
  • ख़्वाजा मीर दर्द ख़्वाजा मीर दर्द
  • बेख़ुद देहलवी बेख़ुद देहलवी