Anwar Sabri's Photo'

अनवर साबरी

1901 - 1985 | दिल्ली, भारत

विद्वान, स्वतंत्रता सेनानी और वक्ता, अपनी शायरी में सूफीवाद और मस्तानगी के लिए मशहूर

विद्वान, स्वतंत्रता सेनानी और वक्ता, अपनी शायरी में सूफीवाद और मस्तानगी के लिए मशहूर

अनवर साबरी

ग़ज़ल 24

शेर 31

ज़ुल्मतों में रौशनी की जुस्तुजू करते रहो

ज़िंदगी भर ज़िंदगी की जुस्तुजू करते रहो

मैं जो रोया उन की आँखों में भी आँसू गए

हुस्न की फ़ितरत में शामिल है मोहब्बत का मिज़ाज

लब पे काँटों के है फ़रियाद-ओ-बुका मेरे बाद

कोई आया ही नहीं आबला-पा मेरे बाद

आप करते जो एहतिराम-ए-बुताँ

बुत-कदे ख़ुद ख़ुदा ख़ुदा करते

वक़्त जब करवटें बदलता है

फ़ित्ना-ए-हश्र साथ चलता है

पुस्तकें 8

Bahadur Shah Zafar Se Jawahar Lal Tak

 

1988

Cheen Chalo

 

 

Jane Pahchane Aur Vo Jinhen Koi Nahi Janta

 

 

Jane Pahchane Aur Woh Jinhen Koi Nahi Janta

 

1958

Nabz-e-Dauran

 

1958

Saqi Nama

 

1975

Sawaneh Shaikh-ul-Islam Maulana Madni

 

 

वह जिंहें कोई नहीं जानता

 

1958

 

ऑडियो 10

उम्र गुज़री है इल्तिजा करते

ज़िंदगी के हसीं बहाने से

तज्दीद-ए-रस्म-ओ-राह-ए-मुलाक़ात कीजिए

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

"दिल्ली" के और शायर

  • मिर्ज़ा ग़ालिब मिर्ज़ा ग़ालिब
  • दाग़ देहलवी दाग़ देहलवी
  • शैख़  ज़हूरूद्दीन हातिम शैख़ ज़हूरूद्दीन हातिम
  • मीर तक़ी मीर मीर तक़ी मीर
  • शाह नसीर शाह नसीर
  • बेख़ुद देहलवी बेख़ुद देहलवी
  • आबरू शाह मुबारक आबरू शाह मुबारक
  • शेख़ इब्राहीम ज़ौक़ शेख़ इब्राहीम ज़ौक़
  • हसरत मोहानी हसरत मोहानी
  • ताबाँ अब्दुल हई ताबाँ अब्दुल हई