Bashar Nawaz's Photo'

बशर नवाज़

1935 - 2015 | औरंगाबाद, भारत

प्रतिष्ठित प्रगतिशील शायर,आलोचक,पटकथा लेखक,और गीतकार/ फ़िल्म 'बाजार' के गीत 'करोगे याद तो हर बात याद आएगी' के लिए प्रसिद्ध

प्रतिष्ठित प्रगतिशील शायर,आलोचक,पटकथा लेखक,और गीतकार/ फ़िल्म 'बाजार' के गीत 'करोगे याद तो हर बात याद आएगी' के लिए प्रसिद्ध

ग़ज़ल 19

नज़्म 13

शेर 11

कहते कहते कुछ बदल देता है क्यूँ बातों का रुख़

क्यूँ ख़ुद अपने-आप के भी साथ वो सच्चा नहीं

कोई यादों से जोड़ ले हम को

हम भी इक टूटता सा रिश्ता हैं

जाने किन रिश्तों ने मुझ को बाँध रक्खा है कि मैं

मुद्दतों से आँधियों की ज़द में हूँ बिखरा नहीं

ई-पुस्तक 3

Ajnabi Samundar

 

1997

रायगाँ

 

1972

Raegan

 

1972

 

वीडियो 7

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायरी वीडियो
At Sarosh Education Campus, Aurangabad

बशर नवाज़

Bashar Nawaz reflects on his craft, life and times.

बशर नवाज़

The Documentary has been made by the Navmaharashtra Yuva Abhiyan Kendra of Yeshwantrao Chavan's Trust.

बशर नवाज़

ऑडियो 5

अबदियत

एक ख़्वाहिश

क़र्ज़

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

संबंधित शायर

  • निदा फ़ाज़ली निदा फ़ाज़ली समकालीन
  • ज़फ़र इक़बाल ज़फ़र इक़बाल समकालीन
  • अमीक़ हनफ़ी अमीक़ हनफ़ी समकालीन
  • शहरयार शहरयार समकालीन
  • गुलज़ार गुलज़ार समकालीन

"औरंगाबाद" के और शायर

  • मिद्हत-उल-अख़्तर मिद्हत-उल-अख़्तर
  • सिकंदर अली वज्द सिकंदर अली वज्द
  • इश्क़ औरंगाबादी इश्क़ औरंगाबादी
  • अब्दुर्रहीम नश्तर अब्दुर्रहीम नश्तर
  • क़ाज़ी सलीम क़ाज़ी सलीम
  • क़मर इक़बाल क़मर इक़बाल
  • फ़ारूक़ शमीम फ़ारूक़ शमीम
  • साबिर साबिर
  • सिराज औरंगाबादी सिराज औरंगाबादी
  • याह्या ख़ान यूसुफ़ ज़ई याह्या ख़ान यूसुफ़ ज़ई

Added to your favorites

Removed from your favorites