aaj ik aur baras biit gayā us ke baġhair

jis ke hote hue hote the zamāne mere

रद करें डाउनलोड शेर
Charagh Sharma's Photo'

चराग़ शर्मा

1998 | चन्दौसी, भारत

चराग़ शर्मा

ग़ज़ल 13

नज़्म 1

 

अशआर 9

उन्हों ने अपने मुताबिक़ सज़ा सुना दी है

हमें सज़ा के मुताबिक़ बयान देना है

अब के मिली शिकस्त मिरी ओर से मुझे

जितवा दिया गया किसी कमज़ोर से मुझे

  • शेयर कीजिए

मैं ने क़ुबूल कर लिया चुप चाप वो गुलाब

जो शाख़ दे रही थी तिरी ओर से मुझे

  • शेयर कीजिए

ख़ताएँ इस लिए करता हूँ मैं कि जानता हूँ

सज़ा मुझे ही मिलेगी ख़ता करूँ करूँ

  • शेयर कीजिए

वो शांत बैठा है कब से मैं शोर क्यों करूँ

बस एक बार वो कह दे कि चुप तो चूँ करूँ

  • शेयर कीजिए

"चन्दौसी" के और शायर

 

Recitation

Jashn-e-Rekhta | 8-9-10 December 2023 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate - New Delhi

GET YOUR PASS
बोलिए