Dil Ayubi's Photo'

दिल अय्यूबी

1929

टोंक के प्रसिद्ध शायर, अपने नातिया कलाम के लिए भी पहचाने जाते हैं

टोंक के प्रसिद्ध शायर, अपने नातिया कलाम के लिए भी पहचाने जाते हैं

दिल अय्यूबी

ग़ज़ल 22

शेर 9

फ़रिश्ता है तो तक़द्दुस तुझे मुबारक हो

हम आदमी हैं तो ऐब-ओ-हुनर भी रखते हैं

लम्हा लम्हा मुझे वीरान किए देता है

बस गया मेरे तसव्वुर में ये चेहरा किस का

इस शहर में तो कुछ नहीं रुस्वाई के सिवा

'दिल' ये इश्क़ ले के किधर गया तुझे

गिर्द-ओ-पेश से इस दर्जा बे-नियाज़ गुज़र

जो बे-ख़बर से हैं सब की ख़बर भी रखते हैं

ये राह-ए-इश्क़ है आख़िर कोई मज़ाक़ नहीं

सऊबतों से जो घबरा गए हों घर जाएँ

पुस्तकें 2

Nazr-e-Risalat

 

1972

राहगुज़र

 

1973