Ejaz Ansari's Photo'

एजाज़ अंसारी

1955 | दिल्ली, भारत

एजाज़ अंसारी

ग़ज़ल 13

अशआर 3

ज़िंदगी दी हिसाब से उस ने

और ग़म बे-हिसाब लिक्खा है

  • शेयर कीजिए

तमाम शहर से मैं जंग जीत सकता हूँ

मगर मैं तुम से बिछड़ते ही हार जाऊँगा

  • शेयर कीजिए

सर उठाते हैं यहाँ भी अस्र-ए-हाज़िर के यज़ीद

कल ये ख़ित्ता भी महाज़-ए-कर्बला हो जाएगा

 

पुस्तकें 2

 

चित्र शायरी 1

 

"दिल्ली" के और शायर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

Jashn-e-Rekhta | 2-3-4 December 2022 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate, New Delhi

GET YOUR FREE PASS
बोलिए