noImage

एजाज़ कमरावी

शेर 1

इक तेरी तमन्ना ने कुछ ऐसा नवाज़ा है

माँगी ही नहीं जाती अब कोई दुआ हम से

  • शेयर कीजिए
 

Added to your favorites

Removed from your favorites