Gauhar Hoshiyarpuri's Photo'

गौहर होशियारपुरी

1930 - 2000

गौहर होशियारपुरी

ग़ज़ल 20

शेर 6

फूलों में वही तो फूल ठहरा

जो तेरे सलाम को खिला हो

लोग किनारे आन लगे

और किनारा डूब गया

नाव डूबी दरिया में

नाव में दरिया डूब गया

लहजा तो बदल चुभती हुई बात से पहले

तीर ऐसा तो कुछ हो जिसे नख़चीर भी चाहे

  • शेयर कीजिए

उजले मैले पेश हुए

जैसे हम थे पेश हुए