Ghulam Rabbani Taban's Photo'

ग़ुलाम रब्बानी ताबाँ

1914 - 1993 | दिल्ली, भारत

ग़ुलाम रब्बानी ताबाँ

ग़ज़ल 38

शेर 22

रह-ए-तलब में किसे आरज़ू-ए-मंज़िल है

शुऊर हो तो सफ़र ख़ुद सफ़र का हासिल है

  • शेयर कीजिए

ये चार दिन की रिफ़ाक़त भी कम नहीं दोस्त

तमाम उम्र भला कौन साथ देता है

  • शेयर कीजिए

निखर गए हैं पसीने में भीग कर आरिज़

गुलों ने और भी शबनम से ताज़गी पाई

  • शेयर कीजिए

बस्तियों में होने को हादसे भी होते हैं

पत्थरों की ज़द पर कुछ आईने भी होते हैं

  • शेयर कीजिए

छटे ग़ुबार-ए-नज़र बाम-ए-तूर जाए

पियो शराब कि चेहरे पे नूर जाए

पुस्तकें 31

1949 Ka Behtareen Adab

 

1949

दुख़्तर-ए-समरना

 

 

Gham-e-Dauran

 

1951

ग़ुबार-ए-मंज़िल

 

1990

Ghulam Rabbani Taban: Hayat Aur Shairi

 

1980

Gulam Rabbani Taban Shakhsiyat Aur Adabi Khidmat

 

1993

हदीस-ए-दिल

 

1960

हवा के दोश पर

 

1974

Hindustan Ki Maashi Tareekh

Volume-002

1979

Hindustan Ki Maashi Tareekh

Volume-001

1979

वीडियो 3

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए
At a mushaira

ग़ुलाम रब्बानी ताबाँ

बस्ती में कमी किस चीज़ की है पत्थर भी बहुत शीशे भी बहुत

ग़ुलाम रब्बानी ताबाँ

ऑडियो 10

कमाल-ए-बे-ख़बरी को ख़बर समझते हैं

किसी के हाथ में जाम-ए-शराब आया है

गुलों के साथ अजल के पयाम भी आए

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

"दिल्ली" के और शायर

  • मीर तक़ी मीर मीर तक़ी मीर
  • शैख़  ज़हूरूद्दीन हातिम शैख़ ज़हूरूद्दीन हातिम
  • शाह नसीर शाह नसीर
  • हसरत मोहानी हसरत मोहानी
  • आबरू शाह मुबारक आबरू शाह मुबारक
  • बेख़ुद देहलवी बेख़ुद देहलवी
  • राजेन्द्र मनचंदा बानी राजेन्द्र मनचंदा बानी
  • ताबाँ अब्दुल हई ताबाँ अब्दुल हई
  • मोमिन ख़ाँ मोमिन मोमिन ख़ाँ मोमिन
  • मोहम्मद रफ़ी सौदा मोहम्मद रफ़ी सौदा