Hafeez Banarasi's Photo'

हफ़ीज़ बनारसी

1933 - 2008 | बनारस, भारत

ग़ज़ल 28

नज़्म 1

 

शेर 25

दुश्मनों की जफ़ा का ख़ौफ़ नहीं

दोस्तों की वफ़ा से डरते हैं

I do nor fear injury from my enemies

what frightens me is my friend's fidelities

I do nor fear injury from my enemies

what frightens me is my friend's fidelities

एक सीता की रिफ़ाक़त है तो सब कुछ पास है

ज़िंदगी कहते हैं जिस को राम का बन-बास है

  • शेयर कीजिए

चले चलिए कि चलना ही दलील-ए-कामरानी है

जो थक कर बैठ जाते हैं वो मंज़िल पा नहीं सकते

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 8

Bada-e-Irfan

 

1974

Darakhshan

 

1969

Ghazalan

 

1984

Ghazalan

 

1984

Qaseeda-e-Nabi-e-Rahmat

 

1993

Qaul-o-Qasam

 

1975

Safeer-e-Shahr-e-Dil

 

2007

Tajalliyat-e-Hafeez

 

2010

 

चित्र शायरी 3

गुमशुदगी ही अस्ल में यारो राह-नुमाई करती है राह दिखाने वाले पहले बरसों राह भटकते हैं

गुमशुदगी ही अस्ल में यारो राह-नुमाई करती है राह दिखाने वाले पहले बरसों राह भटकते हैं

 

वीडियो 3

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए
At a mushaira in 1992

हफ़ीज़ बनारसी

Kahin afiat nahi hai

हफ़ीज़ बनारसी

Lahoo ki mai banayi dil ka paiman bana daala

हफ़ीज़ बनारसी

"बनारस" के और शायर

  • नज़ीर बनारसी नज़ीर बनारसी
  • कबीर अजमल कबीर अजमल
  • भारतेंदु हरिश्चंद्र भारतेंदु हरिश्चंद्र
  • सिराजुल आरिफ़ीन सिराज सिराजुल आरिफ़ीन सिराज
  • दीपक प्रजापति ख़ालिस दीपक प्रजापति ख़ालिस
  • आमिर सूक़ी आमिर सूक़ी
  • कबीर कबीर