Hanif Tarin's Photo'

हनीफ़ तरीन

1951 | दिल्ली, भारत

ग़ज़ल 11

नज़्म 7

शेर 7

पानी ने जिसे धूप की मिट्टी से बनाया

वो दाएरा-ए-रब्त बिगड़ने के लिए था

रिश्ते नाते टूटे फूटे लगे हैं

जब भी अपना साया साथ नहीं होता

महफ़िल में फूल ख़ुशियों के जो बाँटता रहा

तन्हाई में मिला तो बहुत ही उदास था

ई-पुस्तक 13

अबाबीलें नहीं आयीं

 

2006

Ababilein Nahin Aaein

 

2003

Dalit Kaweeta Jaag Uthi

 

2018

हनीफ़ तरीन

फ़न और शख़्सियत

2004

किश्त-ए-ग़ज़ल नुमा

 

1999

Kisht-e-Ghazal Numa

 

1999

किताब-ए-सेहरा

 

1995

Lala-e-Sehraee

 

2014

लाला-ए-सेहराई

 

2014

मैंने ज़िल्ज़ाल को लफ़्ज़ों में उतर कर देखा

 

 

"दिल्ली" के और शायर

  • पॉपुलर मेरठी पॉपुलर मेरठी
  • पवन कुमार पवन कुमार
  • अज़्म शाकरी अज़्म शाकरी
  • अरमान नज्मी अरमान नज्मी
  • अब्दुस्समद ’तपिश’ अब्दुस्समद ’तपिश’
  • ज़फ़र इक़बाल ज़फ़र ज़फ़र इक़बाल ज़फ़र
  • ऐनुद्दीन आज़िम ऐनुद्दीन आज़िम
  • आज़िम कोहली आज़िम कोहली
  • रश्मि सबा रश्मि सबा
  • अकरम नक़्क़ाश अकरम नक़्क़ाश