Khalilur Rahman Azmi's Photo'

ख़लील-उर-रहमान आज़मी

1927 - 1978 | अलीगढ़, भारत

आधुनिक उर्दू आलोचना के संस्थापको में अग्रणी।

आधुनिक उर्दू आलोचना के संस्थापको में अग्रणी।

ख़लील-उर-रहमान आज़मी

ग़ज़ल 48

शेर 53

यूँ तो मरने के लिए ज़हर सभी पीते हैं

ज़िंदगी तेरे लिए ज़हर पिया है मैं ने

  • शेयर कीजिए

जाने किस की हमें उम्र भर तलाश रही

जिसे क़रीब से देखा वो दूसरा निकला

भला हुआ कि कोई और मिल गया तुम सा

वगर्ना हम भी किसी दिन तुम्हें भुला देते

जाने क्यूँ इक ख़याल सा आया

मैं हूँगा तो क्या कमी होगी

निकाले गए इस के मअ'नी हज़ार

अजब चीज़ थी इक मिरी ख़ामुशी

लेख 3

 

पुस्तकें 48

Aaina Khane Mein

Ek Taweel Nazm

 

आसमाँ ऐ आसमाँ

 

2000

Fikr-o-Fan

 

1956

Ghalib Aur Asr-e-Jadeed

 

 

Intikhab-e-Kalam Khalil-ur-Rahman Azmi

 

1991

काग़ज़ी पैराहन

 

1955

Khaleelur Rahman Azmi

Taraqqi Pasandi Se Jadeediyat Tak

1988

Khaleel-ur-Rahman Aazmi

 

2001

Khalil-ul-Rahman Azmi Ki Tanqeed Nigari

 

1996

ख़लीलुर्रहमान आज़मी हयात और अदबी ख़िदमात

 

2009

चित्र शायरी 7

बस कि पाबंदी-ए-आईन-ए-वफ़ा हम से हुई ये अगर कोई ख़ता है तो ख़ता हम से हुई ज़िंदगी तेरे लिए सब को ख़फ़ा हम ने किया अपनी क़िस्मत है कि अब तू भी ख़फ़ा हम से हुई रात भर चैन से सोने नहीं देती हम को इतनी मायूस तिरी ज़ुल्फ़-ए-रसा हम से हुई सर उठाने का भला और किसे यारा था बस तिरे शहर में ये रस्म अदा हम से हुई बार-हा दस्त-सितम-गर को क़लम हम ने किया बार-हा चाक अंधेरे की क़बा हम से हुई हम ने उतने ही सर-ए-राह जलाए हैं चराग़ जितनी बरगश्ता ज़माने की हवा हम से हुई बार-ए-हस्ती तो उठा उठ न सका दस्त-ए-सवाल मरते मरते न कभी कोई दुआ हम से हुई कुछ दिनों साथ लगी थी हमें तन्हा पा कर कितनी शर्मिंदा मगर मौज-ए-बला हम से हुई

 

ऑडियो 3

आईना-दर-आईना

बन-बास

सौदा-गर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

 

संबंधित शायर

  • मजीद अमजद मजीद अमजद समकालीन
  • मोहम्मद अल्वी मोहम्मद अल्वी समकालीन
  • मलिकज़ादा मंज़ूर अहमद मलिकज़ादा मंज़ूर अहमद समकालीन
  • इब्न-ए-सफ़ी इब्न-ए-सफ़ी समकालीन
  • साहिर लुधियानवी साहिर लुधियानवी समकालीन
  • क़ैसर-उल जाफ़री क़ैसर-उल जाफ़री समकालीन
  • अहमद मुश्ताक़ अहमद मुश्ताक़ समकालीन
  • मज़हर इमाम मज़हर इमाम समकालीन
  • रसा चुग़ताई रसा चुग़ताई समकालीन
  • नासिर काज़मी नासिर काज़मी समकालीन

"अलीगढ़" के और शायर

  • शहरयार शहरयार
  • सय्यद अमीन अशरफ़ सय्यद अमीन अशरफ़
  • अख़्तर अंसारी अख़्तर अंसारी
  • वफ़ा नक़वी वफ़ा नक़वी
  • सय्यदा फ़रहत सय्यदा फ़रहत
  • राहत हसन राहत हसन
  • अहसन मारहरवी अहसन मारहरवी
  • साजिदा ज़ैदी साजिदा ज़ैदी
  • मंज़ूर हाशमी मंज़ूर हाशमी
  • शहाबुद्दीन साक़िब शहाबुद्दीन साक़िब