Khurshid Ahmad Jami's Photo'

ख़ुर्शीद अहमद जामी

1915 - 1970 | हैदराबाद, भारत

नई ग़ज़ल के महत्वपूर्ण शायर

नई ग़ज़ल के महत्वपूर्ण शायर

ख़ुर्शीद अहमद जामी

ग़ज़ल 22

शेर 15

कोई हलचल है आहट सदा है कोई

दिल की दहलीज़ पे चुप-चाप खड़ा है कोई

याद-ए-माज़ी की पुर-असरार हसीं गलियों में

मेरे हमराह अभी घूम रहा है कोई

बड़े दिलचस्प वादे थे बड़े रंगीन धोके थे

गुलों की आरज़ू में ज़िंदगी शोले उठा लाई

सहर के साथ चले रौशनी के साथ चले

तमाम उम्र किसी अजनबी के साथ चले

इंतिज़ार आहें भीगती रातें

ख़बर थी कि तुझे इस तरह भुला दूँगा

पुस्तकें 15

Barg-e-Awara

 

1972

Barg-e-Awara

 

1968

Barg-e-Awara

 

1968

Barg-e-Awara

 

1972

Gandhi Ji

 

1956

Jawahar Lal Nehru

 

 

Jawahar Lal Nehru

 

 

Jawahar Lal Nehru

 

 

Nazr-e-Aqeedat

 

 

Qeemat-e-Arz-e-Hunar

 

1969

"हैदराबाद" के और शायर

  • जलील मानिकपूरी जलील मानिकपूरी
  • अमीर मीनाई अमीर मीनाई
  • वली उज़लत वली उज़लत
  • मख़दूम मुहिउद्दीन मख़दूम मुहिउद्दीन
  • ग़ौस ख़ाह मख़ाह  हैदराबादी ग़ौस ख़ाह मख़ाह हैदराबादी
  • रऊफ़ रहीम रऊफ़ रहीम
  • मुसहफ़ इक़बाल तौसिफ़ी मुसहफ़ इक़बाल तौसिफ़ी
  • शफ़ीक़ फातिमा शेरा शफ़ीक़ फातिमा शेरा
  • शाहिद सिद्दीक़ी शाहिद सिद्दीक़ी
  • रियासत अली ताज रियासत अली ताज