Mahmood Ayaz's Photo'

महमूद अयाज़

1929 - 1997 | बैंगलोर, भारत

अपनी साहित्यिक पत्रिका 'सौग़ात' के लिए विख्यात।

अपनी साहित्यिक पत्रिका 'सौग़ात' के लिए विख्यात।

महमूद अयाज़

ग़ज़ल 12

शेर 10

लफ़्ज़ मंज़र में मआनी को टटोला करो

होश वाले हो तो हर बात को समझा करो

चाँद ख़ामोश जा रहा था कहीं

हम ने भी उस से कोई बात की

वो नहीं है सही तर्क-ए-तमन्ना करो

दिल अकेला है इसे और अकेला करो

जीने वालों से कहो कोई तमन्ना ढूँडें

हम तो आसूदा-ए-मंज़िल हैं हमारा क्या है

वो मिरे साथ है साए की तरह

दिल की ज़िद है कि नज़र भी आए

पुस्तकें 29

Aansu Jo Bah Na Sake

 

1971

Naqsh Bar Aab

 

2001

Saughat

 

2016

Shumara Number-001

1959

Shumara Number-010

1996

Shumara Number-011

1996

Saughat,Bangalore

Gosha-e-Mumtaz Sheerin : Shumara Number-003

1992

Saughat,Bangalore

Shumara Number-007

1994

Saughat,Bangalore

Gosha-e-Mahmood Ayaz : Shumara Number-012

1997

Saughat,Bangalore

 

 

ऑडियो 12

अस्पताल का कमरा

ऐ जू-ए-आब

नया सफ़र

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

"बैंगलोर" के और शायर

  • मोहम्मद आज़म मोहम्मद आज़म
  • राही फ़िदाई राही फ़िदाई
  • ज़ाकिरा शबनम ज़ाकिरा शबनम
  • हमीद अलमास हमीद अलमास
  • ख़लील मामून ख़लील मामून
  • शाइस्ता यूसुफ़ शाइस्ता यूसुफ़
  • सलाम नज्मी सलाम नज्मी
  • जितेन्द्र तिवारी जितेन्द्र तिवारी
  • राफ़िया ज़ैनब राफ़िया ज़ैनब
  • शफ़ीक़ आबिदी शफ़ीक़ आबिदी