Mohammad Alvi's Photo'

मोहम्मद अल्वी

1927 - 2018 | अहमदाबाद, भारत

प्रमुखतम आधुनिक शायरों में विख्यात/साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित

प्रमुखतम आधुनिक शायरों में विख्यात/साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित

मोहम्मद अल्वी

ग़ज़ल 87

नज़्म 67

अशआर 120

धूप ने गुज़ारिश की

एक बूँद बारिश की

रोज़ अच्छे नहीं लगते आँसू

ख़ास मौक़ों पे मज़ा देते हैं

आज फिर मुझ से कहा दरिया ने

क्या इरादा है बहा ले जाऊँ

अंधेरा है कैसे तिरा ख़त पढ़ूँ

लिफ़ाफ़े में कुछ रौशनी भेज दे

कुछ तो इस दिल को सज़ा दी जाए

उस की तस्वीर हटा दी जाए

पुस्तकें 11

चित्र शायरी 15

वीडियो 25

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए
Ache din kab aayenge

Mohammad Alvi is a well known Urdu poet. He is a prominent voice of modern Urdu poetry. Currently he lived in Ahmedabad. Mohammad Alvi reciting his ghazal for Rekhta.org मोहम्मद अल्वी

har ek jhonka nukeela ho gaya hai

Mohammad Alvi is a well known Urdu poet. He is a prominent voice of modern Urdu poetry. Currently he lived in Ahmedabad. Mohammad Alvi reciting his ghazal for Rekhta.org मोहम्मद अल्वी

Jaziron ko pata hai kya hai paani

Mohammad Alvi is a well known Urdu poet. He is a prominent voice of modern Urdu poetry. Currently he lived in Ahmedabad. Mohammad Alvi reciting his ghazal for Rekhta.org मोहम्मद अल्वी

Jaziron ko pata hai kya hai paani_Ghazal by Mohammad Alvi

Mohammad Alvi is a well known Urdu poet. He is a prominent voice of modern Urdu poetry. Currently he lived in Ahmedabad. Mohammad Alvi reciting his ghazal for Rekhta.org मोहम्मद अल्वी

Kyun na mahke gulab aankhon mein

Mohammad Alvi is a well known Urdu poet. He is a prominent voice of modern Urdu poetry. Currently he lived in Ahmedabad. Mohammad Alvi reciting his ghazal for Rekhta.org मोहम्मद अल्वी

Labon pe yunhi si hansi bhej de_Ghazal by Mohammad Alvi

Mohammad Alvi is a well known Urdu poet. He is a prominent voice of modern Urdu poetry. Currently he lived in Ahmedabad. Mohammad Alvi reciting his ghazal for Rekhta.org मोहम्मद अल्वी

Mohammad Alvi reciting his Ghazal/Nazm at Mushaira (Shaam-e-Sher) by Rekhta.org-2014

Mohammad Alvi is a well known Urdu poet. He is a prominent voice of modern Urdu poetry. Currently he lived in Ahmedabad. Mohammad Alvi reciting his ghazal for Rekhta.org मोहम्मद अल्वी

 जन्म दिन

साल में इक बार आता है मोहम्मद अल्वी

Dilli

Mohammad Alvi is a well known Urdu poet. He is a prominent voice of modern Urdu poetry. Currently he lived in Ahmadabad. Mohammad Alvi reciting his Ghazal & Nazm at Jashn-e-Rekhta-2015. मोहम्मद अल्वी

और बाज़ार से क्या ले जाऊँ

मोहम्मद अल्वी

क्यूँ न महकें गुलाब आँखों में

मोहम्मद अल्वी

क्या कहते क्या जी में था

मोहम्मद अल्वी

कोई मौसम हो भले लगते थे

मोहम्मद अल्वी

गिरह में रिश्वत का माल रखिए

मोहम्मद अल्वी

घर

अब मैं घर में पाँव नहीं रखूँगा कभी मोहम्मद अल्वी

चाँद की कगर रौशन

मोहम्मद अल्वी

ज़मीन लोगों से डर गई है

मोहम्मद अल्वी

दुख का एहसास न मारा जाए

मोहम्मद अल्वी

नींद रातों की उड़ा देते हैं

मोहम्मद अल्वी

रात के मुँह पर उजाला चाहिए

मोहम्मद अल्वी

लबों पर यूँही सी हँसी भेज दे

मोहम्मद अल्वी

शरीफ़े के दरख़्तों में छुपा घर देख लेता हूँ

मोहम्मद अल्वी

ऑडियो 34

क्या कहते क्या जी में था

चाँद की कगर रौशन

ज़मीन लोगों से डर गई है

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

संबंधित ब्लॉग

 

संबंधित शायर

"अहमदाबाद" के और शायर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

बोलिए