noImage

नुसरत हाशमी

नुसरत हाशमी

अशआर 1

मेरे नालों में असर हो ये ज़रूरी तो नहीं

हर शब-ए-ग़म की सहर हो ये ज़रूरी तो नहीं

 

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI