Nusrat Mehdi's Photo'

नुसरत मेहदी

1970 | भोपाल, भारत

नुसरत मेहदी

ग़ज़ल 28

शेर 2

आजिज़ी आज है मुमकिन है हो कल मुझ में

इस तरह ऐब निकालो मुसलसल मुझ में

फ़ज़ा ये अम्न-ओ-अमाँ की सदा रखें क़ाएम

सुनो ये फ़र्ज़ तुम्हारा भी है हमारा भी

  • शेयर कीजिए
 

पुस्तकें 5

Ghar Aane Ko Hai

 

2014

Intikhab-e-Sukhan

 

2010

Shumara Number-004,005

2007

 

संबंधित शायर

  • अलीना इतरत अलीना इतरत बहन
  • नईम अख़्तर ख़ादिमी नईम अख़्तर ख़ादिमी समकालीन
  • अज़रा परवीन अज़रा परवीन समकालीन
  • मीना नक़वी मीना नक़वी बहन

"भोपाल" के और शायर

  • कैफ़ भोपाली कैफ़ भोपाली
  • मुनीर भोपाली मुनीर भोपाली
  • अख़्तर सईद ख़ान अख़्तर सईद ख़ान
  • परवीन कैफ़ परवीन कैफ़
  • अहमद कमाल परवाज़ी अहमद कमाल परवाज़ी
  • बख़्तियार ज़िया बख़्तियार ज़िया
  • डॉक्टर आज़म डॉक्टर आज़म
  • रश्मि सबा रश्मि सबा
  • अंजुम बाराबंकवी अंजुम बाराबंकवी
  • शाहिद भोपाली शाहिद भोपाली