Syed Zameer Jafri's Photo'

सय्यद ज़मीर जाफ़री

1914 - 1999 | इस्लामाबाद, पाकिस्तान

पाकिस्तान के लोकप्रिय हास्य-व्यंग शायर

पाकिस्तान के लोकप्रिय हास्य-व्यंग शायर

सय्यद ज़मीर जाफ़री

ग़ज़ल 15

नज़्म 12

अशआर 7

बहन की इल्तिजा माँ की मोहब्बत साथ चलती है

वफ़ा-ए-दोस्ताँ बहर-ए-मशक़्कत साथ चलती है

  • शेयर कीजिए

अब इक रूमाल मेरे साथ का है

जो मेरी वालिदा के हाथ का है

हम ने कितने धोके में सब जीवन की बर्बादी की

गाल पे इक तिल देख के उन के सारे जिस्म से शादी की

  • शेयर कीजिए

एक लम्हा भी मसर्रत का बहुत होता है

लोग जीने का सलीक़ा ही कहाँ रखते हैं

हँस मगर हँसने से पहले सोच ले

ये हो फिर उम्र भर रोना पड़े

  • शेयर कीजिए

हास्य 33

क़ितआ 2

 

क़िस्सा 3

 

रेखाचित्र 1

 

पुस्तकें 49

वीडियो 7

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

सय्यद ज़मीर जाफ़री

सय्यद ज़मीर जाफ़री

सय्यद ज़मीर जाफ़री

Reciting his poetry

सय्यद ज़मीर जाफ़री

Syed Zameer Jafri at a mushaira

सय्यद ज़मीर जाफ़री

इक रेल के सफ़र की तस्वीर खींचता हूँ

सय्यद ज़मीर जाफ़री

संबंधित शायर

"इस्लामाबाद" के और शायर

Recitation

aah ko chahiye ek umr asar hote tak SHAMSUR RAHMAN FARUQI

बोलिए