Aleena Itrat's Photo'

मुशायरों में लोकप्रिय, प्रसिद्ध कवयित्री

मुशायरों में लोकप्रिय, प्रसिद्ध कवयित्री

ग़ज़ल 16

नज़्म 4

 

शेर 34

अपनी मुट्ठी में छुपा कर किसी जुगनू की तरह

हम तिरे नाम को चुपके से पढ़ा करते हैं

  • शेयर कीजिए

कोई आवाज़ आहट कोई हलचल है

ऐसी ख़ामोशी से गुज़रे तो गुज़र जाएँगे

  • शेयर कीजिए

ज़िंदा रहने की ये तरकीब निकाली मैं ने

अपने होने की खबर सब से छुपा ली मैं ने

  • शेयर कीजिए

पुस्तकें 1

 

चित्र शायरी 3

उदासी शाम तन्हाई कसक यादों की बेचैनी मुझे सब सौंप कर सूरज उतर जाता है पानी में

अपनी मुट्ठी में छुपा कर किसी जुगनू की तरह हम तिरे नाम को चुपके से पढ़ा करते हैं

पुकारते पुकारते सदा ही और हो गई क़ुबूल होते होते हर दुआ ही और हो गई ज़रा सा रुक के दो-घड़ी चमन पे क्या निगाह की बदल गए मिज़ाज-ए-गुल हवा ही और हो गई ये किस के नाम की तपिश से पर पर जल उठे हथेलियाँ महक गईं हिना ही और हो गई ख़िज़ाँ ने अपने नाम की रिदा जो गुल पे डाल दी चमन का रंग उड़ गया सबा ही और हो गई ग़ुरूर-ए-आफ़्ताब से ज़मीं का दिल सहम गया तमाम बारिशें थमीं घटा ही और हो गई ख़मोशियों ने ज़ेर-ए-लब ये क्या कहा ये क्या सुना कि काएनात-ए-इश्क़ की अदा ही और हो गई जो वक़्त मेहरबाँ हुआ तो ख़ार फूल बन गए ख़िज़ाँ की ज़र्द ज़र्द सी क़बा ही और हो गई वरक़ वरक़ 'अलीना' हम ने ज़िंदगी से यूँ रंगा कि कातिब-ए-नसीब की रज़ा ही और हो गई

 

वीडियो 3

This video is playing from YouTube

संबंधित शायर

  • मीना नक़वी मीना नक़वी बहन
  • नुसरत मेहदी नुसरत मेहदी बहन

"नोएडा" के और शायर

  • मालिकज़ादा जावेद मालिकज़ादा जावेद
  • मीना नक़वी मीना नक़वी
  • आलोक श्रीवास्तव आलोक श्रीवास्तव
  • पी पी श्रीवास्तव रिंद पी पी श्रीवास्तव रिंद
  • अमित बजाज अमित बजाज
  • माधव अवाना माधव अवाना
  • अज़रा नक़वी अज़रा नक़वी
  • रितेश सिंह 'राहिल' रितेश सिंह 'राहिल'
  • मुमताज़ नसीम मुमताज़ नसीम
  • नोमान शौक़ नोमान शौक़