Ejaz Rahmani's Photo'

एजाज़ रहमानी

1936 - 2019 | कराची, पाकिस्तान

ग़ज़ल 11

शेर 6

अभी से पाँव के छाले देखो

अभी यारो सफ़र की इब्तिदा है

  • शेयर कीजिए

तालाब तो बरसात में हो जाते हैं कम-ज़र्फ़

बाहर कभी आपे से समुंदर नहीं होता

  • शेयर कीजिए

गुज़र रहा हूँ मैं सौदा-गरों की बस्ती से

बदन पे देखिए कब तक लिबास रहता है

चित्र शायरी 1

अभी से पाँव के छाले न देखो अभी यारो सफ़र की इब्तिदा है

 

संबंधित शायर

  • क़मर जलालवी क़मर जलालवी गुरु
  • मुज़फ़्फ़र वारसी मुज़फ़्फ़र वारसी समकालीन
  • किश्वर नाहीद किश्वर नाहीद समकालीन

"कराची" के और शायर

  • साबिर वसीम साबिर वसीम
  • इशरत रूमानी इशरत रूमानी
  • सिराज मुनीर सिराज मुनीर
  • कौसर  नियाज़ी कौसर नियाज़ी
  • आलमताब तिश्ना आलमताब तिश्ना
  • रज़ी अख़्तर शौक़ रज़ी अख़्तर शौक़
  • सहर अंसारी सहर अंसारी
  • मोहसिन एहसान मोहसिन एहसान
  • जाज़िब क़ुरैशी जाज़िब क़ुरैशी
  • मोहसिन भोपाली मोहसिन भोपाली