Font by Mehr Nastaliq Web

aaj ik aur baras biit gayā us ke baġhair

jis ke hote hue hote the zamāne mere

रद करें डाउनलोड शेर
Jaun Eliya's Photo'

जौन एलिया

1931 - 2002 | कराची, पाकिस्तान

उर्दू के अग्रणी आधुनिक शायरों में शामिल। अपने अपारम्परिक अंदाज़ के लिए अत्यधिक लोकप्रिय

उर्दू के अग्रणी आधुनिक शायरों में शामिल। अपने अपारम्परिक अंदाज़ के लिए अत्यधिक लोकप्रिय

जौन एलिया के वीडियो

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

जौन एलिया

Jaun Elia about Ubaidullah Aleem 1/3

जौन एलिया

Jaun Elia about Ubaidullah Aleem 2/3

जौन एलिया

Jaun Elia about Ubaidullah Aleem 3/3

जौन एलिया

Jaun Elia I

जौन एलिया

Jaun Eliya at a mushaira

जौन एलिया

Jaun Eliya at a mushaira

जौन एलिया

Jaun Eliya at a mushaira

जौन एलिया

Jaun Eliya at a mushaira

जौन एलिया

Jaun Eliya at a mushaira

जौन एलिया

Jaun Eliya at a mushaira

जौन एलिया

Jaun Eliya at a mushaira

जौन एलिया

Jaun Eliya at a mushaira

जौन एलिया

Jaun Eliya reciting at a mushaira

जौन एलिया

uth samadhi se dhayan ki uth chal

जौन एलिया

उस के पहलू से लग के चलते हैं

जौन एलिया

कोई हालत नहीं ये हालत है

जौन एलिया

जुज़ गुमाँ और था ही क्या मेरा

जौन एलिया

जो रानाई निगाहों के लिए फ़िरदौस-ए-जल्वा है

जौन एलिया

बे-क़रारी सी बे-क़रारी है

जौन एलिया

मैं न ठहरूँ न जान तू ठहरे

जौन एलिया

रूह प्यासी कहाँ से आती है

जौन एलिया

साल-हा-साल और इक लम्हा

जौन एलिया

हम रहे पर नहीं रहे आबाद

जौन एलिया

हमारे ज़ख़्म-ए-तमन्ना पुराने हो गए हैं

जौन एलिया

हाल ये है कि ख़्वाहिश-ए-पुर्सिश-ए-हाल भी नहीं

जौन एलिया

आज भी तिश्नगी की क़िस्मत में

जौन एलिया

आप अपना ग़ुबार थे हम तो

जौन एलिया

उम्र गुज़रेगी इम्तिहान में क्या

जौन एलिया

उम्र गुज़रेगी इम्तिहान में क्या

जौन एलिया

उस के पहलू से लग के चलते हैं

जौन एलिया

उस के पहलू से लग के चलते हैं

जौन एलिया

एक ही मुज़्दा सुब्ह लाती है

जौन एलिया

कभी जब मुद्दतों के बा'द उस का सामना होगा

जौन एलिया

कितने ऐश से रहते होंगे कितने इतराते होंगे

जौन एलिया

कितने ऐश से रहते होंगे कितने इतराते होंगे

जौन एलिया

किसी से अहद-ओ-पैमाँ कर न रहियो

जौन एलिया

गाहे गाहे बस अब यही हो क्या

जौन एलिया

चलो बाद-ए-बहारी जा रही है

जौन एलिया

चाँद की पिघली हुई चाँदी में

जौन एलिया

चारासाज़ों की चारा-साज़ी से

जौन एलिया

जी ही जी में वो जल रही होगी

जौन एलिया

जो रानाई निगाहों के लिए फ़िरदौस-ए-जल्वा है

जौन एलिया

ठीक है ख़ुद को हम बदलते हैं

जौन एलिया

तंग आग़ोश में आबाद करूँगा तुझ को

जौन एलिया

तंग आग़ोश में आबाद करूँगा तुझ को

जौन एलिया

दरख़्त-ए-ज़र्द

नहीं मालूम 'ज़रयून' अब तुम्हारी उम्र क्या होगी जौन एलिया

दिल ने वफ़ा के नाम पर कार-ए-वफ़ा नहीं किया

जौन एलिया

नया इक रिश्ता पैदा क्यूँ करें हम

जौन एलिया

बे-क़रारी सी बे-क़रारी है

जौन एलिया

बे-दिली क्या यूँही दिन गुज़र जाएँगे

जौन एलिया

मैं न ठहरूँ न जान तू ठहरे

जौन एलिया

ये तेरे ख़त तिरी ख़ुशबू ये तेरे ख़्वाब-ओ-ख़याल

जौन एलिया

रम्ज़

तुम जब आओगी तो खोया हुआ पाओगी मुझे जौन एलिया

रम्ज़

तुम जब आओगी तो खोया हुआ पाओगी मुझे जौन एलिया

रम्ज़

तुम जब आओगी तो खोया हुआ पाओगी मुझे जौन एलिया

रूह प्यासी कहाँ से आती है

जौन एलिया

शर्मिंदगी है हम को बहुत हम मिले तुम्हें

जौन एलिया

समझ में ज़िंदगी आए कहाँ से

जौन एलिया

सर ही अब फोड़िए नदामत में

जौन एलिया

हू का आलम है यहाँ नाला-गरों के होते

जौन एलिया

है बिखरने को ये महफ़िल-ए-रंग-ओ-बू तुम कहाँ जाओगे हम कहाँ जाएँगे

जौन एलिया

हम कहाँ और तुम कहाँ जानाँ

जौन एलिया

हालत-ए-हाल के सबब हालत-ए-हाल ही गई

जौन एलिया

हालत-ए-हाल के सबब हालत-ए-हाल ही गई

जौन एलिया

वीडियो का सेक्शन
शायरी वीडियो
Live talk about Jaun Eliya by Asad Mohammad Khan

The conversation is brought to you by Syed Mohsin Ali for Rekhta.

Naseer Turabi talks about Jaun Elia - 1/4

नसीर तुराबी

Naseer Turabi talks about Jaun Elia - 2/4

नसीर तुराबी

Naseer Turabi talks about Jaun Elia - 3/4

नसीर तुराबी

Naseer Turabi talks about Jaun Elia - 4/4

नसीर तुराबी

वीडियो का सेक्शन
अन्य वीडियो

मेहरान अमरोही

ज़ेहरा निगाह

नूर जहाँ

अज्ञात

अज्ञात

अज्ञात

अज्ञात

Irfan Sattar Maqala on Jaun Elia Part 1/3

Irfan Sattar Maqala on Jaun Elia Part 1/3 इरफ़ान सत्तार

Irfan Sattar Maqala on Jaun Elia Part 2/3

Irfan Sattar Maqala on Jaun Elia Part 2/3 इरफ़ान सत्तार

Irfan Sattar Maqala On Jaun Elia Part 3/3

Irfan Sattar Maqala On Jaun Elia Part 3/3 इरफ़ान सत्तार

Mera ek mashwaraa hai iltijaa nai

Mera ek mashwaraa hai iltijaa nai सलमान अल्वी

किस से इज़हार-ए-मुद्दआ कीजे

किस से इज़हार-ए-मुद्दआ कीजे अज्ञात

किसी से अहद-ओ-पैमाँ कर न रहियो

किसी से अहद-ओ-पैमाँ कर न रहियो अज्ञात

नया इक रिश्ता पैदा क्यूँ करें हम

नया इक रिश्ता पैदा क्यूँ करें हम अज्ञात

नया इक रिश्ता पैदा क्यूँ करें हम

नया इक रिश्ता पैदा क्यूँ करें हम मसूद तन्हा

बे-क़रारी सी बे-क़रारी है

बे-क़रारी सी बे-क़रारी है मसूद तन्हा

बहुत दिल को कुशादा कर लिया क्या

बहुत दिल को कुशादा कर लिया क्या अज्ञात

रम्ज़

रम्ज़ मसूद तन्हा

है बिखरने को ये महफ़िल-ए-रंग-ओ-बू तुम कहाँ जाओगे हम कहाँ जाएँगे

है बिखरने को ये महफ़िल-ए-रंग-ओ-बू तुम कहाँ जाओगे हम कहाँ जाएँगे अज्ञात

अपने सब यार काम कर रहे हैं

अपने सब यार काम कर रहे हैं अज्ञात

अब किसी से मिरा हिसाब नहीं

अब किसी से मिरा हिसाब नहीं नाज़िश

अब वो घर इक वीराना था बस वीराना ज़िंदा था

अब वो घर इक वीराना था बस वीराना ज़िंदा था नाज़िश

अभी इक शोर सा उठा है कहीं

अभी इक शोर सा उठा है कहीं अज्ञात

आख़िरी बार आह कर ली है

आख़िरी बार आह कर ली है नाज़िश

आज भी तिश्नगी की क़िस्मत में

आज भी तिश्नगी की क़िस्मत में नाज़िश

आदमी वक़्त पर गया होगा

आदमी वक़्त पर गया होगा नाज़िश

उम्र गुज़रेगी इम्तिहान में क्या

उम्र गुज़रेगी इम्तिहान में क्या अज्ञात

एक साया मिरा मसीहा था

एक साया मिरा मसीहा था अज्ञात

एक ही मुज़्दा सुब्ह लाती है

एक ही मुज़्दा सुब्ह लाती है अज्ञात

किस से इज़हार-ए-मुद्दआ कीजे

किस से इज़हार-ए-मुद्दआ कीजे अज्ञात

किस से इज़हार-ए-मुद्दआ कीजे

किस से इज़हार-ए-मुद्दआ कीजे अज्ञात

गाहे गाहे बस अब यही हो क्या

गाहे गाहे बस अब यही हो क्या अज्ञात

ज़िंदगी क्या है इक कहानी है

ज़िंदगी क्या है इक कहानी है भारती विश्वनाथन

जी ही जी में वो जल रही होगी

जी ही जी में वो जल रही होगी अज्ञात

जो रानाई निगाहों के लिए फ़िरदौस-ए-जल्वा है

जो रानाई निगाहों के लिए फ़िरदौस-ए-जल्वा है मेहरान अमरोही

ठीक है ख़ुद को हम बदलते हैं

ठीक है ख़ुद को हम बदलते हैं अज्ञात

दरख़्त-ए-ज़र्द

दरख़्त-ए-ज़र्द विविध

नया इक रिश्ता पैदा क्यूँ करें हम

नया इक रिश्ता पैदा क्यूँ करें हम अज्ञात

बे-क़रारी सी बे-क़रारी है

बे-क़रारी सी बे-क़रारी है अज्ञात

बे-क़रारी सी बे-क़रारी है

बे-क़रारी सी बे-क़रारी है मेहदी हसन

मेरी अक़्ल-ओ-होश की सब हालतें

मेरी अक़्ल-ओ-होश की सब हालतें मेहरान अमरोही

शर्म दहशत झिझक परेशानी

शर्म दहशत झिझक परेशानी मेहरान अमरोही

सर ही अब फोड़िए नदामत में

सर ही अब फोड़िए नदामत में अज्ञात

सारे रिश्ते तबाह कर आया

सारे रिश्ते तबाह कर आया भारती विश्वनाथन

साल-हा-साल और इक लम्हा

साल-हा-साल और इक लम्हा मेहरान अमरोही

सीना दहक रहा हो तो क्या चुप रहे कोई

सीना दहक रहा हो तो क्या चुप रहे कोई अज्ञात

शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

शायरी वीडियो

अन्य वीडियो

Recitation

Jashn-e-Rekhta | 8-9-10 December 2023 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate - New Delhi

GET YOUR PASS
बोलिए