aaj ik aur baras biit gayā us ke baġhair

jis ke hote hue hote the zamāne mere

रद करें डाउनलोड शेर
Josh Malsiani's Photo'

जोश मलसियानी

1884 - 1976 | जालंधर, भारत

पद्म श्री, अविभाजित पंजाब के मशहूर शायर

पद्म श्री, अविभाजित पंजाब के मशहूर शायर

जोश मलसियानी

ग़ज़ल 20

नज़्म 1

 

अशआर 23

जिस को तुम भूल गए याद करे कौन उस को

जिस को तुम याद हो वो और किसे याद करे

  • शेयर कीजिए

इस वहम से कि नींद में आए कुछ ख़लल

अहबाब ज़ेर-ए-ख़ाक सुला कर चले गए

  • शेयर कीजिए

मक़्बूल हों हों ये मुक़द्दर की बात है

सज्दे किसी के दर पे किए जा रहा हूँ मैं

  • शेयर कीजिए

वतन की सर-ज़मीं से इश्क़-ओ-उल्फ़त हम भी रखते हैं

खटकती जो रहे दिल में वो हसरत हम भी रखते हैं

  • शेयर कीजिए

डूब जाते हैं उमीदों के सफ़ीने इस में

मैं मानूँगा कि आँसू है ज़रा सा पानी

हास्य शायरी 1

 

पुस्तकें 28

चित्र शायरी 1

 

वीडियो 3

This video is playing from YouTube

वीडियो का सेक्शन
शायर अपना कलाम पढ़ते हुए

जोश मलसियानी

जोश मलसियानी

जोश मलसियानी

संबंधित शायर

"जालंधर" के और शायर

Recitation

Jashn-e-Rekhta | 8-9-10 December 2023 - Major Dhyan Chand National Stadium, Near India Gate - New Delhi

GET YOUR PASS
बोलिए