Mirza Athar Zia's Photo'

मिर्ज़ा अतहर ज़िया

1981 - 2018 | आज़मगढ़, भारत

ग़ज़ल 14

शेर 15

मुझ में थोड़ी सी जगह भी नहीं नफ़रत के लिए

मैं तो हर वक़्त मोहब्बत से भरा रहता हूँ

  • शेयर कीजिए

इंतिज़ार करो कल का आज दर्ज करो

ख़मोशी तोड़ दो और एहतिजाज दर्ज करो

  • शेयर कीजिए

ख़ुद अपने क़त्ल का इल्ज़ाम ढो रहा हूँ अभी

मैं अपनी लाश पे सर रख के रो रहा हूँ अभी

पुस्तकें 1

Abjad-e-Ishq

 

2017

 

"आज़मगढ़" के और शायर

  • अख़तर मुस्लिमी अख़तर मुस्लिमी
  • इक़बाल सुहैल इक़बाल सुहैल
  • सरफ़राज़ नवाज़ सरफ़राज़ नवाज़
  • अबरार आज़मी अबरार आज़मी
  • रहमत इलाही बर्क़ आज़मी रहमत इलाही बर्क़ आज़मी
  • दानिश फ़राही दानिश फ़राही
  • मुख़तसर आज़मी मुख़तसर आज़मी
  • शाद बिलगवी शाद बिलगवी
  • मिस्दाक़ आज़मी मिस्दाक़ आज़मी
  • निसार जयराजपुरी निसार जयराजपुरी