Tripurari's Photo'

त्रिपुरारि

1986 | मुंबई, भारत

ग़ज़ल 14

नज़्म 5

 

शेर 22

हवा तू ही उसे ईद-मुबारक कहियो

और कहियो कि कोई याद किया करता है

  • शेयर कीजिए

मोहब्बत में शिकायत कर रहा हूँ

शिकायत में मोहब्बत कर रहा हूँ

तुम जिसे चाँद कहते हो वो अस्ल में

आसमाँ के बदन पर कोई घाव है

  • शेयर कीजिए

चित्र शायरी 2

ऐ हवा तू ही उसे ईद-मुबारक कहियो और कहियो कि कोई याद किया करता है

जिसे तुम ढूँडती रहती हो मुझ में वो लड़का जाने कब का मर चुका है

 

"मुंबई" के और शायर

  • शाहिद लतीफ़ शाहिद लतीफ़
  • स्वप्निल तिवारी स्वप्निल तिवारी
  • अशअर नजमी अशअर नजमी
  • अब्दुल्लाह कमाल अब्दुल्लाह कमाल
  • जतीन्द्र वीर यख़मी ’जयवीर जतीन्द्र वीर यख़मी ’जयवीर
  • अहमद वसी अहमद वसी
  • सूर्यभानु गुप्त सूर्यभानु गुप्त
  • राजेन्द्र कृष्ण राजेन्द्र कृष्ण
  • मुदिता रस्तोगी मुदिता रस्तोगी
  • मोहम्मद असलम ग़ाज़ी मोहम्मद असलम ग़ाज़ी