Iqbal Sajid's Photo'

इक़बाल साजिद

1932 - 1988 | लाहौर, पाकिस्तान

लोकप्रिय पाकिस्तानी शायर , कम उम्र में देहांत

लोकप्रिय पाकिस्तानी शायर , कम उम्र में देहांत

ग़ज़ल 40

शेर 35

अपनी अना की आज भी तस्कीन हम ने की

जी भर के उस के हुस्न की तौहीन हम ने की

वो चाँद है तो अक्स भी पानी में आएगा

किरदार ख़ुद उभर के कहानी में आएगा

सूरज हूँ ज़िंदगी की रमक़ छोड़ जाऊँगा

मैं डूब भी गया तो शफ़क़ छोड़ जाऊँगा

प्यासो रहो दश्त में बारिश के मुंतज़िर

मारो ज़मीं पे पाँव कि पानी निकल पड़े

मैं तिरे दर का भिकारी तू मिरे दर का फ़क़ीर

आदमी इस दौर में ख़ुद्दार हो सकता नहीं

पुस्तकें 2

Asasa

 

1990

Kulliyat-e-Iqbal Sajid

 

1994

 

संबंधित शायर

  • अहमद फ़राज़ अहमद फ़राज़ समकालीन
  • जौन एलिया जौन एलिया समकालीन
  • क़ाबिल अजमेरी क़ाबिल अजमेरी समकालीन
  • क़ैसर-उल जाफ़री क़ैसर-उल जाफ़री समकालीन
  • शमीम जयपुरी शमीम जयपुरी समकालीन
  • रसा चुग़ताई रसा चुग़ताई समकालीन

"लाहौर" के और शायर

  • अल्लामा इक़बाल अल्लामा इक़बाल
  • शहज़ाद अहमद शहज़ाद अहमद
  • ज़फ़र इक़बाल ज़फ़र इक़बाल
  • नासिर काज़मी नासिर काज़मी
  • हबीब जालिब हबीब जालिब
  • अमजद इस्लाम अमजद अमजद इस्लाम अमजद
  • मुनीर नियाज़ी मुनीर नियाज़ी
  • नबील अहमद नबील नबील अहमद नबील
  • साग़र सिद्दीक़ी साग़र सिद्दीक़ी
  • एहसान दानिश एहसान दानिश