Jaleel 'Aali''s Photo'

जलील ’आली’

1945 - | रावलपिंडी, पाकिस्तान

ग़ज़ल 41

शेर 19

हम कि हैं नक़्श सर-ए-रेग-ए-रवाँ क्या जाने

कब कोई मौज-ए-हवा अपना निशाँ ले जाए

ग़ुरूर-ए-इश्क़ में इक इंकिसार-ए-फ़क़्र भी है

ख़मीदा-सर हैं वफ़ा को अलम बनाते हुए

जाँ खपाते हैं ग़म-ए-इश्क़ में ख़ुश ख़ुश 'आली'

कैसी लज़्ज़त का ये आज़ार बनाया हुआ है

ई-पुस्तक 3

अर्ज़-ए-हुनर से आगे

 

2007

ख़्वाब दरीचा

 

2004

Shauq Sitara

 

1998

 

"रावलपिंडी" के और शायर

  • यामीन यामीन
  • निसार नासिक निसार नासिक
  • बशीर सैफ़ी बशीर सैफ़ी
  • साबिर ज़फ़र साबिर ज़फ़र
  • हसन अब्बास रज़ा हसन अब्बास रज़ा
  • नसीर अहमद नासिर नसीर अहमद नासिर
  • परवीन फ़ना सय्यद परवीन फ़ना सय्यद
  • अली मोहम्मद फ़र्शी अली मोहम्मद फ़र्शी
  • जमील मलिक जमील मलिक
  • अफ़ज़ल मिनहास अफ़ज़ल मिनहास

Added to your favorites

Removed from your favorites