Jaleel 'Aali''s Photo'

जलील ’आली’

1945 - | रावलपिंडी, पाकिस्तान

ग़ज़ल 41

शेर 19

ज़रा सी बात पर सैद-ए-ग़ुबार-ए-यास होना

हमें बर्बाद कर देगा बहुत हस्सास होना

तुम्हारा क्या तुम्हें आसाँ बहुत रस्ते बदलना है

हमें हर एक मौसम क़ाफ़िले के साथ चलना है

दुनिया तो है दुनिया कि वो दुश्मन है सदा की

सौ बार तिरे इश्क़ में हम ख़ुद से लड़े हैं

ई-पुस्तक 3

अर्ज़-ए-हुनर से आगे

 

2007

ख़्वाब दरीचा

 

2004

Shauq Sitara

 

1998

 

"रावलपिंडी" के और शायर

  • रशीद अमजद रशीद अमजद
  • इलियास बाबर आवान इलियास बाबर आवान
  • मोहम्मद याक़ूब आसी मोहम्मद याक़ूब आसी
  • ऐश बर्नी ऐश बर्नी
  • अहमद शमीम अहमद शमीम
  • हबीब अमरोहवी हबीब अमरोहवी
  • शफ़ीक़ुर्रहमान शफ़ीक़ुर्रहमान
  • अनवर आलम सिद्दीक़ी अनवर आलम सिद्दीक़ी
  • ख़ाकान साजिद ख़ाकान साजिद
  • अख़्तर आलम अख़्तर आलम

Added to your favorites

Removed from your favorites