पसंदीदा विडियो

दानिश इक़बाल

Izhar-e-Ishq aur Shayari: Jashn-e-Rekhta 2017

इस विडियो को शेयर कीजिए

आज के टॉप 5

क्यूँ परखते हो सवालों से जवाबों को 'अदीम'

होंट अच्छे हों तो समझो कि सवाल अच्छा है

अदीम हाशमी

कैफ़िय्यत-ए-चश्म उस की मुझे याद है 'सौदा'

साग़र को मिरे हाथ से लीजो कि चला मैं

मोहम्मद रफ़ी सौदा

नाहक़ हम मजबूरों पर ये तोहमत है मुख़्तारी की

चाहते हैं सो आप करें हैं हम को अबस बदनाम किया

Us weak, she wrongfully accuses, of taking untold liberty

while she acts as she chooses, and maligns us needlessly

Us weak, she wrongfully accuses, of taking untold liberty

while she acts as she chooses, and maligns us needlessly

मीर तक़ी मीर

'हफ़ीज़' अपनी बोली मोहब्बत की बोली

उर्दू हिन्दी हिन्दोस्तानी

हफ़ीज़ जालंधरी
  • शेयर कीजिए

एक आँसू ने डुबोया मुझ को उन की बज़्म में

बूँद भर पानी से सारी आबरू पानी हुई

a single tear caused my fall in her company

just a drop of water drowned my dignity

a single tear caused my fall in her company

just a drop of water drowned my dignity

शेख़ इब्राहीम ज़ौक़
आर्काइव
आज का शब्द

रहबर

  • rahbar
  • رہبر

शब्दार्थ

Guide/ leader

'मजरूह' क़ाफ़िले की मिरे दास्ताँ ये है

रहबर ने मिल के लूट लिया राहज़न के साथ

शब्द शेयर कीजिए

आर्काइव

आज की प्रस्तुति

18वी सदी के बड़े शायरों में शामिल, मीर तक़ी 'मीर' के समकालीन।

गुल फेंके है औरों की तरफ़ बल्कि समर भी

ख़ाना-बर-अंदाज़-ए-चमन कुछ तो इधर भी

पूर्ण ग़ज़ल देखें

मोहम्मद रफ़ी सौदा के बारे में शेयर कीजिए

ई-पुस्तकालय

उर्दू साहित्य का सबसे बड़ा ऑनलाइन संग्रह

शुमारा नम्बर-002

महबूबुर्रहमान फ़ारूक़ी 

1995 आज कल

Gujrati Kahaniyan

मज़हरुल हक़ अलवी 

1996 कहानी

Lafzon ka Pul

निदा फ़ाज़ली 

1967

Aab-e-Gum

मुशताक़ अहमद यूसुफ़ी 

1995 गद्य/नस्र

अंटोनी और केलोपटरा

विलियम शेक्सपीयर 

1979 नाटक / ड्रामा

ई-पुस्तकालय

नया क्या है

100+

ग़ज़लें

अभी पढ़िए

100+

नज़्म

अभी पढ़िए

1300+

ई-पुस्तक

अभी पढ़िए

हम से जुड़िये

न्यूज़लेटर

* रेख़्ता आपके ई-मेल का प्रयोग नियमित अपडेट के अलावा किसी और उद्देश्य के लिए नहीं करेगा

rekhta_logo

Favroite added successfully

Favroite removed successfully