पसंदीदा विडियो

गोपी चंद नारंग

Mirza Ghalib - The Poet of Love and Coexistence

इस विडियो को शेयर कीजिए

आज के टॉप 5

ख़ूब निभेगी हम दोनों में मेरे जैसा तू भी है

थोड़ा झूटा मैं भी ठहरा थोड़ा झूटा तू भी है

फ़राग़ रोहवी

मोहब्बत के लिए कुछ ख़ास दिल मख़्सूस होते हैं

ये वो नग़्मा है जो हर साज़ पर गाया नहीं जाता

मख़मूर देहलवी

इक मुअम्मा है समझने का समझाने का

ज़िंदगी काहे को है ख़्वाब है दीवाने का

फ़ानी बदायुनी

ज़िंदगी क्या हुए वो अपने ज़माने वाले

याद आते हैं बहुत दिल को दुखाने वाले

अख़्तर सईद ख़ान

उन्हें अपने दिल की ख़बरें मिरे दिल से मिल रही हैं

मैं जो उन से रूठ जाऊँ तो पयाम तक पहुँचे

शकील बदायुनी
आर्काइव
आज का शब्द

आबशार

  • aabshaar
  • آبشار

शब्दार्थ

Waterfall

उस संग-दिल के हिज्र में चश्मों को अपने आह

मानिंद-ए-आबशार किया हम ने क्या किया

शब्द शेयर कीजिए

आर्काइव

जश्न

जन्मदिन

प्रमुखतम प्रगतिशील शायरों में विख्यात/ फ़ैज़ अहमद फ़ैज़ के समकालीन/अपनी गज़ल ‘मरने की दुआएँ क्यों माँगूँ.......’ के लिए प्रसिद्ध, जिसे कई गायकों ने स्वर दिए हैं

मुईन अहसन जज़्बी के बारे में शेयर कीजिए

ई-पुस्तकालय

उर्दू साहित्य का सबसे बड़ा ऑनलाइन संग्रह

बच्चों के इस्माईल मेरठी

नईमुद्दीन ज़ुबैरी 

2013 बच्चों का साहित्य

शाम का पहला तारा

ज़ेहरा निगाह 

1980 काव्य संग्रह

आधा गाँव

राही मासूम रज़ा 

2003 अफ़साना

शुमारा नम्बर-005

अजमल कमाल 

1990 आज

बाल-ओ-पर

कन्हैया लाल कपूर 

हास्य-व्यंग

ई-पुस्तकालय

नया क्या है

200+

ग़ज़लें

अभी पढ़िए

1300+

ई-पुस्तक

अभी पढ़िए

हम से जुड़िये

न्यूज़लेटर

* रेख़्ता आपके ई-मेल का प्रयोग नियमित अपडेट के अलावा किसी और उद्देश्य के लिए नहीं करेगा

Favroite added successfully

Favroite removed successfully